• Twitter
  • Facebook
  • Google+
  • LinkedIn

एशियाई विश्वविद्यालय गठबंधन शिखर सम्मेलन 2018

9 Apr 2018

प्रा.देवांग खख्खर, निदेशक, भा.प्रौ.सं मुंबई तथा प्रा.पी.एम.मजुमदार, उप निदेशक (वित्त एवं बाह्यस्थ कार्य), हैनान, चीन में अप्रैल 9, 2018 को आयोजित एशियाई विश्वविद्यालय गठबंधन के द्वितीय शिखर सम्मेलन में सहभागी हुए।

एशियाई विश्वविद्यालय गठबंधन (एयूए) वर्ष 2017 में स्थापित एक क्षेत्रीय संगठन है। जिसका उद्देश्य सदस्य संस्थानों में सहयोगात्मक संबंध को सुदृढ बनाते हुए क्षेत्रीय तथा वैश्विक चुनौतियों को, विशेषतः उच्च शिक्षा तथा आर्थिक, वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकीय विकास का संयुक्त रूप से विचार विमर्श करना है। एयूए इस मिशन हेतु कार्य करने के लिए अपनी समरसता और मूल्यों को साझा करने के लिए सम्मिलित होते हैं और प्रोत्साहन देते हैं।

प्रा. खख्खर 'बोआओ फोरम फॉर एशिया' (बीएफए) की बोआओ, हैनान प्रोविन्स में 8 से 11अप्रैल तक आयोजित वार्षिक सम्मेलन में भी सहभागी हुए। चीन के अध्यक्ष XI जीनपिंग ने उद्घाटन समारोह में मुख्य अभिभाषण दिया। इस वर्ष के बीएफए वार्षिक सम्मेलन के इस वर्ष का विषय था "बृहत्तर समृद्धिपूर्ण विश्व हेतु एक मुक्त और अभिनव एशिया"। एयूए विश्वविद्यालय के अध्यक्षों ने गोलमेज चर्चा सत्र "एशियाई विश्वविद्यालयों का उदय” में सहभागी हुए। सहभागी गण के चर्चा विषय थे- एशियाई विश्वविद्यालय का दायित्व तथा मिशन, चतुर्थ औद्योगिक क्रांति में एशियाई विश्वविद्यालय का प्रभाव, नवपरिवर्तन और प्रौद्योगिकी अंतरण।सदस्य विश्वविद्यालय (15)

चुलालोंगकोर्न यूनिवर्सिटी, थायलंड

हाँगकाँग यूनिवर्सिटी ऑफ साइन्स एण्ड टेक्नोलॉजी, हाँग काँग

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई, भारत

किंग सौद यूनिवर्सिटी, सौदी अरेबिया

नॅशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापूर, सिंगापूर

नजरबायेव यूनिवर्सिटी, कझाकिस्तान

पेकिंग यूनिवर्सिटी, चीन

यूनाइटेड अरब एमिरेटस यूनिवर्सिटी, यूनाइटेड अरब एमिरेटस

यूनिवर्सिटास इंडोनेशिया, इंडोनेशिया

यूनिवर्सिटी ऑफ कोलंबो, श्रीलंका

यूनिवर्सिटी ऑफ मलाया, मलेशिया

द यूनिवर्सिटी ऑफ टोकयो, जापान

यूनिवर्सिटी ऑफ यांगोन, म्यानमार